तालाब की बातें

तालाब की बातें
जल है तो जीवन है

बुधवार, 4 मई 2016

Society and women In Abudhabi

जो लोग अरब देशों के बारे में बेहद स्‍टीरियो टाईप छबि रखते हैं, उन्‍हें यहां आ कर बदलाव को जरूर देखना चाहिए, अबुधाबी पुस्‍तक मेले में हर रोज हजारों हजार महिलांए आ रही हैं, स्‍कूली बच्‍चे उनमें भी लडकियां, स्‍टॉल के पीछे पुस्‍तकें बेचतीं, सूचना केंद्रों पर जानकारी देतीिं, बच्‍चें के साथ कहानी सुनातीं...... हर जगह महिलाएं हैं, संख्‍या में पुरूषों से ज्‍यादा, ये स्‍थानीय अरबी महिलाएं हैं, बुरके या हिजाब में होती हैं लेकिन शानदार अंग्रेजी बोलती हैं, हिंदी समझती हैं पुस्‍तकें खरीद कर बिल कटवाती औरतें ही ज्‍यादा हैं, वे सांईंस, फिक्‍शन, दुनिया के बारे में इतिहास जैसे मसलों पर पुस्‍तकें उठाती हैं , अबुधाबी की राजकुमारी बगैर बुरके या हिजाब के अखबारों में फोटो देती हैं व बच्‍चों के लिए काम कर रही हैं, यहां की शिक्षा मंत्री भी एक महिला हैं व प्रेस से सामना करने में उन्‍हें कोई हिचक नहीं होती

मेरे बारे में